Tuesday, September 17, 2019
ख़ास बात : दलित अधिकार कार्यकर्ता मोहिनी से

ख़ास बात : दलित अधिकार कार्यकर्ता मोहिनी से

मोहिनी हरियाणा में दलित अधिकारों के लिए लगातार काम कर रही हैं| उनके बेहतर प्रयासों के लिए उन्हें दलित फाउंडेशन से फ़ेलोशिप भी मिली|
ख़ास बात : मानसिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता रत्नाबोली रे के साथ

ख़ास बात : मानसिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता रत्नाबोली रे के साथ

रत्नाबोली रे प्रसिद्ध मानसिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता, प्रशिक्षित मनोवैज्ञानिक और मानसिक स्वास्थ्य अधिकार पर काम करने वाली संस्था ‘अंजली’ की संस्थापिका हैं|

ख़ास बात : भारत की पहली स्लाइड गिटारवादिका विदुषी डॉ कमला शंकर के साथ

भारत की पहली स्लाइड गिटारवादिका विदुषी डॉ कमला शंकर पूरी दुनिया में अपनी बहुमुखी प्रतिभा और गिटारवादन का लोहा मनवा चुकी हैं|
ख़ास बात : 'परिवार और समाज' पर क्विअर नारीवादी एक्टिविस्ट प्रमदा मेनन के साथ

ख़ास बात : ‘परिवार और समाज’ पर क्विअर नारीवादी एक्टिविस्ट प्रमदा मेनन के साथ

आज की दुनिया में हम सभी के लिए ज़रूरी है कि हम परिवार की अपनी परिभाषा पर दोबारा विचार करें। आज की दुनिया नई तकनीकी दुनिया है।

ख़ास बात : खतने की कुप्रथा के खिलाफ आवाज़ उठाने वाली सालेहा पाटवाला

सालेहा पाटवाला एक नारीवादी है और भारत में महिलाओं के साथ होने वाली ‘खतना’ की कुप्रथा के खिलाफ सक्रिय तरीके से काम कर रही हैं|
ख़ास बात : "पीढ़ियाँ बदल जातीं हैं, स्त्री की दशा नहीं बदलती।" - कंचन सिंह चौहान

ख़ास बात : “पीढ़ियाँ बदल जातीं हैं, स्त्री की दशा नहीं बदलती।” – कंचन...

कंचन सिंह चौहान बहुमुखी प्रतिभा की धनी हैं। वे एक शायरा, कहानीकार और ब्लॉगर हैं। उनके भीतर एक पाठक और जहीन आलोचक भी सजग है।
खास बात: "स्त्री का लिखना साहित्य के क्षेत्र में अपना स्पेस क्लेम करना है" - सुजाता

खास बात: “स्त्री का लिखना साहित्य के क्षेत्र में अपना स्पेस क्लेम करना है”...

सुजाता हिंदी की महत्वपूर्ण कवि और स्त्रीवादी लेखक हैं। उनका एक कविता संकलन 'अनन्तिम मौन के बीच' भारतीय ज्ञानपीठ से प्रकाशित किया गया है। साथ ही, सुजाता चोखेरबाली ब्लॉग भी लिखती हैं|

खास बात: ऑल इंडिया दलित महिला अधिकार मंच (एआईडीएमएएम) की शोभना स्मृति से

हम बात कर रहे हैं एआईडीएमएएम की शोभना स्मृति से मौजूदा समय में दलित महिलाओं की समस्याओं, चुनौतियों और संघर्षों के बारे में|