FII Hindi is now on Telegram

नारीवाद हमेशा हमें एक किताबी शब्द लगता है, जो हम अक्सर पढ़ते है और इससे सहमत भी होते है लेकिन इसे हम अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में कैसे लाए इस बात पर अटक जाते हैं।

तो आइए जानते है कि कैसे हम अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में ‘नारीवाद’ को ला सकते हैं :


Video created by Manasi Pant and Eesha RC

Follow FII channels on Youtube and Telegram for latest updates.

नारीवादी मीडिया को ज़रूरत है नारीवादी साथियों की

हमारा प्रीमियम कॉन्टेंट और ख़ास ऑफर्स पाएं और हमारा साथ दें ताकि हम एक स्वतंत्र संस्थान के तौर पर अपना काम जारी रख सकें।

फेमिनिज़म इन इंडिया के सदस्य बनें

अपना प्लान चुनें

Leave a Reply