FII is now on Telegram

अरे, नारीवाद की साइट पर पॉलिटिक्स की बातों की क्या ज़रूरत है!!

नारीवाद के नाम पर राजनीतिक मुद्दों की चर्चा करना , प्रोपगैंडा फैलाना बंद करो!!

नारीवाद की बात करनी है तो महिला मुद्दों की बात करो। राजनीति पर बात करने की क्या ज़रूरत है

जब भी हम अपनी साइट या सोशल मीडिया पर राजीनितिक लेख, खबरें, वीडियो या पोस्टर प्रकाशित करते हैं तो एक या दो कॉमेंट तो ऐसे आ ही जाते हैं, नारीवाद में राजनीति का क्या काम? जैसे कि हम तो वोट देते ही नहीं हैं, न हमें मतलब है कि देश में किसकी सरकार है, न हमें इस बात से फर्क पड़ता है कि सरकार की नीतियों का हम पर क्या असर होगा!! सच बताएं, तो हम थक चुके हैं ये सुन-सुनकर कि नारीवाद का मतलब तो बस महिला मुद्दों पर बात करना है न! चलिए आज फेमिनिज़म इन इंडिया के इस वीडियो में हम आपको बताते हैं कि नारीवाद राजनीतिक क्यों है!!! और क्यों ज़रूरी है नारीवाद को एक राजनीतिक विचारधारा के रूप में देखना!!अक्सर लोग नारीवाद को राजनीति से जोड़कर इसलिए नहीं देखते क्योंकि नारीवाद के बारे में सबसे बड़ी गलतफहमी यह है कि नारीवाद का मतलब तो बस महिलाओं के मुद्दे पर बात करना है। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं, तो आज FII Explains के इस नए वीडियो में हम आपकी ऐसी ही कई गलतफ़हमियों को दूर करेंगे।

Become an FII Member

Follow FII channels on Youtube and Telegram for latest updates.

नारीवादी मीडिया को ज़रूरत है नारीवादी साथियों की

हमारा प्रीमियम कॉन्टेंट और ख़ास ऑफर्स पाएं और हमारा साथ दें ताकि हम एक स्वतंत्र संस्थान के तौर पर अपना काम जारी रख सकें।

फेमिनिज़म इन इंडिया के सदस्य बनें

अपना प्लान चुनें

Leave a Reply