FII Hindi is now on Telegram

टोक्यो में ही पैरालंपिक्स का आयोजन 24 अगस्त से शुरू होगा जिसमें भारत की ओर से 9 खेलों में 54 पैरा एथलीट हिस्सा लेंगे। इस मौके पर आइए जानते हैं उन महिलाओं के बारे में जो इस उत्सव में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं।

ज्योति बालियान

ज्योति बालियान टोक्यो पैरालंपिक्स में भाग लेने वाली एकमात्र महिला तीरंदाज़ हैं। वह मुज़फ्फरनगर की रहने वाली हैं और 12 साल से तीरंदाज़ी का अभ्यास कर रही है। मात्र 16 साल की उम्र में इन्होंने तीरंदाजी सीखनी शुरू कर दी थी। वर्तमान में ज्योति विश्वस्तर पर 22वीं रैंक मान्यता प्राप्त हैं। 

पलक कोहली और पारुल दलसुखभाई परमार

पलक कोहली पैरालंपिक्स में शिरकत कर रही बैडमिंटन की सबसे युवा खिलाड़ी है। वह पंजाब के जालंधर शहर की रहने वाली हैं। पलक ने साल 2019 के युगांडा पैरा-बैडमिंटन में वीमंस डबल्स में गोल्ड और वीमंस सिंगल्स में सिल्वर मेडल जीता था। इसी साल दुबई में हुए पैरा बैडमिंटन टूर्नामेंट में पलक ने वीमंस सिंगल्स में सिल्वर, वीमंस डबल्स में ब्रॉन्ज और मिक्स्ड डबल्स में भी ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

पारुल दलसुखभाई परमार गुजरात से आने वाली पैरा- बैंडमिंटन खिलाड़ी हैं। उन्होंने पैरा-बैंडमिंटन वुमेन सिंगल SL3 में विश्व में नंबर वन रैंक हासिल की थी। उन्होंने साल 2017 में BWF पैरा-बैंडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप में वुमेन सिंगल और डबल में गोल्ड मेडल जीता था। साल 2009 में परमार को भारत सरकार द्वारा अर्जुन अवार्ड और गुजरात सरकार द्वारा एकलव्य अवार्ड से सम्मानित किया गया था। 

Become an FII Member

प्राची यादव

ग्वालियर की प्राची यादव टोक्यो पैरालंपिक्स के लिए क्वॉलीफाई करने वाली पहली भारतीय पैराकेनो (paracanoe) एथलीट बन गई हैं। प्राची पैरा-तैराक चैंपियन भी रह चुकी हैं।

सकीना ख़ातून

बेंगलुरु की रहने वाली सकीना ख़ातून भारतीय पावरलिफ्टर हैं। साल 2014 में उन्हें कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए चुना गया था और उन्होंने महिलाओं की लाइटलिफ्टिंग श्रेणी (61 किलोग्राम)  में कुल 88.2 किलोग्राम वजन उठाकर भारोत्तोलन में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था।

भवीना हसमुखभाई पटेल और सोनल पटेल

भवीना हसमुखभाई पटेल गुजरात के मेहसाणा से आने वाली एक पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। साल 2011 में उन्होंने पीटीटी थाईलैंड टेबल टेनिस चैंपियनशिप में व्यक्तिगत श्रेणी में सिल्वर मेडल जीता था। अक्टूबर साल 2013 में उन्होंने बींजिग में एशियाई पैरा टेबल टेनिस चैंपियनशिप में वीमेन सिंगल में सिल्वर मेडल जीता था।

 सोनल पटेल एक पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। जिनकी विश्व में 19वीं रैंक है। वह 25 अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट खेल चुकी हैं, जिसमें उन्होंने 2 गोल्ड, 4 सिल्वर और 6 ब्रॉन्ज़ मेडल अपने नाम किए हैं।

अरुणा तंवर

अरुणा तंवर एक भारतीय पैरा ताइक्वांडो एथलीट हैं। वह टोक्यो पैरालंपिक्स के लिए क्वॉलीफाई करने वाली पहली ताइक्वांडो एथलीट बन गई हैं। वर्तमान में वह विश्व में W-49 किग्रा/ K43 में चौंथे स्थान पर हैं और विश्व पैरा ताइकामांडो इवेंट्स की W-49 किग्रा /K44 में वह विश्व में 30वें स्थान पर हैं।

अवनी लेखारा और रुबीना फ्रांसिस

अवनी लेखारा टोक्यो पैरालंपिक्स में भाग लेने वाली भारतीय शूटर हैं। वर्तमान में वह महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में SH1 में विश्व में वह 5वें स्थान पर हैं। साल 2015 और 2016 में लगातार अवनी ने राष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। साल 2017 में दुबई में IPC पैरा शूटिंग विश्व कप में उन्होंने सिल्वर मेडल अपने नाम किया। हाल ही में यूक्रेन में आयोजित 2021 विश्व शूटिंग पैरा खेल विश्व कप में उन्होंने  सिल्वर मेडल जीता। 

रुबीना फ्रांसिस भारतीय पैरा पिस्टल शूटर हैं। वर्तमान में वह इंटरनैशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन द्वारा महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 में 5वें स्थान पर हैं। उन्होंने साल 2018 में एशियाई पैरा गेम्स P2- महिलाओं की 10M  एयर पिस्टल (SH1 इवेंट्स) में भी भाग लिया था। 

कशिश लाकड़ा और एकता भान

कशिश लाकड़ा महिला क्लब थ्रो में टोक्यो पैरालंपिक्स को लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की सबसे युवी एथलीट हैं। 

एकता भान ने साल 2018 के एशियाई पैरा गेम्स में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और उन्होंने ने क्लब थ्रो इंवेट में गोल्ड मेडल भी जीता था। साल 2016, 2017 और 2018 में उन्होंने राष्ट्रीय पैरा एथलेटिक्स में गोल्ड मेडल जीता था।

सिमरन शर्मा और भाग्यश्री माधवराव जाधव

सिमरन शर्मा टोक्यो पैरालंपिक्स में 100 मीटर के ट्रैंक इंवेट के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला हैं।

भाग्यश्री माधवराव जाधव टोक्यो पैरालंपिक्स में महिला शॉट पुट में भाग लेने वाली एक पैरा एथलीट हैं।

Kirti has completed Hindi Journalism from IIMC, Delhi. Looking for space that she can call home. She loves to bake cake and pizza. Want to make her own library. Making bookmarks, listening to Ali Sethi, and exploring cinema is the only hope to survive in this world.

Follow FII channels on Youtube and Telegram for latest updates.

नारीवादी मीडिया को ज़रूरत है नारीवादी साथियों की

हमारा प्रीमियम कॉन्टेंट और ख़ास ऑफर्स पाएं और हमारा साथ दें ताकि हम एक स्वतंत्र संस्थान के तौर पर अपना काम जारी रख सकें।

फेमिनिज़म इन इंडिया के सदस्य बनें

अपना प्लान चुनें

Leave a Reply